Home » Blog

Blog

शीतला माता से जुडी मुख्य पांच बाते

शीतला माता से जुडी मुख्य पांच बातेMain five things related to Sheetla Mataकौन है शीतला माता :शीतला माता की यह पांच बाते जरुर जानेशीतला माता को चेचक रोग की देवी बताया गया है | आपने सुना भी होगा की उस व्यक्ति या बच्चे के माता निकल गयी, और शरीर पर बहुत सारी फुंसियां हो गयी | शीतला माता १) शीतला माता के चार हाथ बताये गये है जिसमे झाड़ू, कलश, नीम के पत्ते और सूप है | इन चारो का...Read More


मंदिर जिसमे दम्पति एक साथ पूजा नही कर सकते

मंदिर जिसमे दम्पति एक साथ पूजा नही कर सकतेTemple in which couple cannot worship togetherदम्पति एक साथ पूजा नही करतेभारतीय सनातन धर्म में बहुत सारे मंदिरों के साथ अनोखे किस्से जुड़े है | कही किसी मंदिर में प्रसाद की जगह भक्त ताले चढाते है तो कही मंदिर बाहर से गर्म और अन्दर से ठंडा रहता है | आज हम जिस मंदिर की बात करेंगे उसके साथ एक अनोखी परम्परा जुडी हुई है | इस मंदिर में...Read More


पार्वती ने दिया शनि को अपंग होने का श्राप

पार्वती ने दिया शनि को अपंग होने का श्रापParvati cursed Shani to be crippledएकबार शनिदेव कैलाश पर्वत पर आये तब माँ पार्वती से मिलने पर उनकी नजर निचे झुकी हुई थी | पार्वती जी ने उनसे पूंछा  की वो नजरे निचे क्यों झुकाए हुए है | तब शनिदेव ने बताया की उनकी नजर से उनके पुत्र श्री गणेश को नुकसान पहुँच सकता है इसी भय से उनकी नजरे निचे है | यह सुनकर शिव पत्नी गिरिजा जोर जोर से...Read More


रावण द्वारा रचित शिव तांडव स्त्रोत की महिमा

रावण द्वारा रचित शिव तांडव स्त्रोत की महिमा Glory of Shiva Tandava Stotra composed by Ravanaमंत्र व स्तोत्र में बड़ी शक्ति होती है अपने आराध्य का ध्यान अपनी तरफ खीचने की | स्तोत्र का पाठ करना कृपा सागर में दुबकी लगाने जैसा ही है | प्रत्येक देवी देवताओं के वेदों व पुराणों में उल्लेखित अलग अलग स्त्रोत हैं | हम यहा शिवजी की आराधना में बनाये गये शिव तांडव स्त्रोत की बात कर रहे...Read More


MOTIVATIONAL SHAYARI – प्रेरणादायक शायरी मेसेज

MOTIVATIONAL SHAYARI – प्रेरणादायक शायरी मेसेजजीवन में साहस होना सफलता के लिए अत्यंत जरुरी है | साहस से राह में आगे बढ़ा जाता है तो राहे में आने वाली परेशानियों का बिना घबराये सामना कर अपने लक्ष्य की तरफ आगे बढ़ा जाता है | इसी सन्दर्भ में आज हम लाये है प्रेरणादायक कुछ हिम्मत बढ़ाने वाली शायरियाँ और मेसेज |  कर्म करोगे फल मिलेगाआज नही तो कल मिलेगाकुआं  जितना ...Read More


शीतलाष्टमी बासोड़ा क्यों खाते है ठंडा खाना

शीतलाष्टमी बासोड़ा क्यों खाते है ठंडा खानाWhy Sheetlashtami Basoda eat cold foodशीतलाष्टमी व्रत जिसे बासोड़ा या बासेडा भी कहते है |शीतलाष्टमी चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनायी जाती है। इसमें शीतला माता का व्रत और पूजन किया जाता है। शीतला अष्टमी व्रत को करने से व्यक्ति के सारे परिवार में दाह ज्वर, पीत ज्वर, दुर्गन्ध से युक्त फोड़े, आंखों के सारे रोग, माता की...Read More


होलिका दहन की पूजा कैसे करे

होलिका दहन की पूजा कैसे करेHow to worship Holika Dahanहोलिका दहन प्रहलाद की भक्ति की शक्ति और भगवान विष्णु की कीर्ति की याद में मनाई जाती है | इस दिन सभी होलिका की पूजा करते है | होलिका की पूजा में काम आने वाली सामग्री :पवित्र जल का लोटा, कुमकुम, चावल, कच्चा सूत, मूँग, हल्दी गाठ, बताशे, नारियल पुष्प, गंध, गोबर के उपले, नई फसल जैसे चने और गेहूं की बालिया | होलिका दहन...Read More


सावित्री के श्राप से ब्रह्माजी का एकमात्र मंदिर पुष्कर में

सावित्री के श्राप से ब्रह्माजी का एकमात्र मंदिर पुष्कर मेंBrahma's only temple in Pushkar due to Savitri's curseबह्र्माजी देव का पुष्कर मंदिरBrahma Temple, Pushkarएक बार एक असुर (Demon) की हत्या करते करते ब्रह्माजी  के हाथो से तीन कमल के पुष्प गिर गए जिससे धरती पर तीन झीले बन गयी | यही स्थान पुष्कर कहलाया | ब्रह्माजी  की इच्छा हुई की यहा हवन किया जाये पर उनकी पत्नी सावित्री इस हवन में आ नहीं...Read More


महर्षि अगस्त ने क्यों पी लिया समुन्द्र का पूरा जल

महर्षि अगस्त ने क्यों पी लिया समुन्द्र का पूरा जलWhy did Maharishi August drink all the water of the seaअगस्त मुनि द्वारा सागर का सम्पूर्ण जल पीने की कथामहाभारत के सभापर्व में एक प्रसंग आया है जिसमे बताया गया है कि एक बार लोक कल्याणार्थ महर्षि अगस्त ने समुन्द्र का पूरा जल पीकर देवताओ को दैत्यों पर विजय दिलवाई थी | अगस्त मुनि का समुन्द्र का पान कथा :एक बार इंद्र सहित सभी देवता ...Read More


क्यों दिया राक्षस विभीषण ने राम का साथ

क्यों दिया राक्षस विभीषण ने राम का साथWhy did the demon Vibhishana support Ramराक्षस विभीषण ने क्यों दिया राम का साथरामायण में आपने देखा और पढ़ा होगा की विभीषण असुर कूल के थे फिर भी उन्होंने अपने असुर भाइयो रावण और कुंभकर्ण  का साथ ना देकर विष्णु के अवतार श्री राम का साथ दिया | आखिर कैसे एक असुर अपने भाइयो के प्राण संकट में डाल सकता है | आइये आज जानते है विभीषण के इस...Read More


रावण की पुत्री सीता के पीछे का सच्च

रावण की पुत्री सीता के पीछे का सच्चThe Truth Behind Ravana's Daughter Sitaरावण सीता की पुत्री :रामायण के ऊपर दुनियाभर के विद्वान अध्ययन कर रहे है| बहुत सारी रामायणे ( लगभग 100 से ऊपर ) भी लिखी गयी है जिसमे महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण मुख्य है| अदभुत  रामायण में रावण और सीता का संबंध पिता पुत्री का बताया गया है| हालाकि वाल्मीकि रामायण इस बात के ऊपर कोई सच्चाई नही...Read More


इन राशियों वाले पति बहुत ध्यान रखते है अपनी पत्नियों का

इन राशियों वाले पति बहुत ध्यान रखते है अपनी पत्नियों काHusbands with these zodiac signs take great care of their wivesBest Husband zodiac sign in Astrology.ज्योतिष शास्त्र में व्यक्ति के जन्म के समय और स्थान के साथ ही उसकी राशि तय हो जाती है | इससे उस व्यक्ति का राशि स्वामी और स्वभाव के बारे में भी जानकारी प्राप्त होती है | आज हम इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे कि किस राशि वाले पति अपनी पत्नियों का ध्यान बहुत...Read More


राशि के अनुसार किस तरह का तिलक लगाये

राशि के अनुसार किस तरह का तिलक लगायेWhat type of tilak should be applied according to the zodiacराशि के अनुसार किस का तिलक लगायेहम जानते है की अलग अलग राशि के स्वामी अलग अलग होते है उनके शुभ फल के लिए अलग अलग तिलक लगाने का विधान है | अपनी राशि के अनुसार तिलक नित्य करने से 30 दिनों में ही परिणाम आने लगते है | राशि के अनुसार तिलक लगाने से आपके तारे आप पर महरबान रहते है और सही फल प्रदान करते ...Read More


केदारनाथ ज्योतिर्लिंग

केदारनाथ ज्योतिर्लिंगKedarnath Jyotirlingकेदारनाथ शिवजी ज्योतिर्लिंगकेदारनाथ ज्योतिर्लिंग मन्दिर भारत के उत्तराखण्ड राज्य के रूद्रप्रयाग जिले केदार नमक चोटी पर स्तिथ है| हिन्दुओ के चार धाम में बद्रीनाथ के पास केदारनाथ को मुख्य स्थान प्राप्त है | प्रतिकूल जलवायु के कारण ही यह मंदिर अप्रैल से नवंबर महीने तक ही खुला रहता है | कहा जाता है की इस मंदिर का...Read More


अमरनाथ शिवलिंग की शिव पार्वती कथा

अमरनाथ शिवलिंग की शिव पार्वती कथाShiva Parvati Story of Amarnath Shivling अमरनाथ अर्थात अमरता की कथा सुनाने वाले अमर शिव शंकर जो सभी के नाथो के नाथ है |Amarnath Shivling Story : अमरनाथ शिवलिंग की कहानी पुराणों से : पुराणों में एक प्रसंग आता है कि एक बार माँ पार्वती ने हठ पकड़ ली की आप तो अमर है और मुझे हर बार नए नए अवतार लेकर और फिर तपस्या करके आपको क्यों पाना होता है ? यह क्यों होता है ...Read More


राशि अनुसार धन प्राप्ति के उपाय

राशि अनुसार धन प्राप्ति के उपायWays to get money according to the zodiacधन आज सभी की जरूरत है | धन प्राप्ति के लिए सभी प्रयास करते है | वे कर्म , भाग्य और ईश्वर कृपा द्वारा पैसा पाना चाहते है | ज्योतिष शास्त्र में कुछ उपाय बताये गये है जो राशी के अनुसार धन की प्राप्ति कराने में सहायक है | हर व्यक्ति का जन्म समय और जगह के आधार पर नामकरण होता है | उस नाम से उसे एक राशि और राशि का ...Read More


कुबेर

कुबेरKuber कुबेर धन के स्वामी के रूप में जाने जाते हैं| क्योंकि वे धन का संग्रह करना जानते हैं| अधिक धनी लोगों के लिए एक मुहावरा भी प्रयोग किया जाता है कि उसके पास कभी न ख़त्म होने वाला कुबेर का खजाना है| पौराणिक मान्यता के अनुसार कुबेर उत्तर दिशा के स्वामी हैं, दिक्पाल हैं| साथ ही कुबेर पद्म, महापद्म, शंख, मकर, कच्छप, मुकुंद, कुंद, नील एवं वर्चस जैसी...Read More


काले घोड़े की नाल प्रभावशाली उपाय

काले घोड़े की नाल प्रभावशाली उपायBlack Horseshoe Effective Remedyकाले घोड़े की नाल के प्रभावशाली उपाय और टोटकेतंत्र क्रियाओं में अनेक वस्तुओं का प्रयोग किया जाता है| काले घोड़े की नाल भी उन्हीं में से एक है| ऐसा मानते हैं कि तंत्र प्रयोग में यदि काले घोड़े की नाल का प्रयोग किया जाए तो असंभव कार्य भी संभव हो जाता है| तंत्र शास्त्र के अनुसार, वैसे तो किसी भी घोड़े की...Read More


सनातन हिन्दू धर्म में यन्त्र

सनातन हिन्दू धर्म में यन्त्रसबसे पहले तो जाने की यंत्र होता क्या है और किसी देवी देवता की पूजा में यह क्या भूमिका अदा करता है | यन्त्र को English में Machine भी कहते है | हिन्दू देवी देवता यन्त्र हिन्दू देवी देवता के यन्त्र यह साधक की उर्जा द्वारा जाग्रत होती है और ईश्वर की शक्ति से उसके कार्यो को पूर्ण करती है | यन्त्र और मंत्र यह आपस में जुड़े हुए है |...Read More


घर में कछुआ रखने के लाभ

घर में कछुआ रखने के लाभBenefits of keeping a tortoise at homeकछुआ फायदेयदि हम फेंगशुई या फिर भारतीय धार्मिक शास्त्रों की माने तो घर या ऑफिस में कछुआ रखना अति शुभकारी माना गया है | इसे रखने से घर के परिवार के सदस्यों की उम्र में बढ़ोतरी होती है, साथ ही साथ घर में सुख शांति बढती है | Profit of Tortoiseहिन्दू सनातन धर्म के आधार पर कछुआ के रूप में भगवान विष्णु ने कच्छप अवतार लिया था...Read More


चन्द्र ग्रहण क्या होता है और क्या करे इस दिन

चन्द्र ग्रहण क्या होता है और क्या करे इस दिनWhat is lunar eclipse and what to do on this dayचन्द्रग्रहण और टोटकेक्या होता है चंद्रग्रहण और इसके दुष्प्रभावअक्सर हम देखते हैं कि चंद्रग्रहण और किस वजह से होते हैं अलग-अलग प्रकार की बातें सामने आती रही है ! हमारे वैज्ञानिकों के अनुसार चंद्रग्रहण क्यो होता है और यह कब होता है ! जब सूर्य चंद्रमा और पृथ्वी तीनों एक ही दिशा में...Read More


घर के मंदिर में ध्यान रखने योग्य बाते

घर के मंदिर में ध्यान रखने योग्य बातेThings to keep in mind in the temple of the houseघर के मंदिर में ध्यान रखे ये बाते :हम सब अपने घरो में एक जगह अपने आराध्य देव देवी के लिए जरुर बनाते है और हर दिन अपनी श्रद्दा के अनुसार भक्ति भाव से पूजा अर्चना भी करते है | घर में बने मंदिर से घर में सुख शांति का वास होता है | किसी शुभ कार्य से पहले हम इनके आगे शीश झुकाकर इन देवी देवताओ का आशीष...Read More


क्यों हुई माँ अंजना अपने पुत्र हनुमान से नाराज

क्यों हुई माँ अंजना अपने पुत्र हनुमान से नाराजWhy did mother Anjana get angry with her son Hanumanक्यों हुई माँ अंजना अपने पुत्र हनुमान से नाराजजब रामायण का युद्ध समाप्त हुआ तब वापिस लौटते वक्त हनुमानजी का रास्ते पर  घर पड़ता था | माँ अंजना से हनुमान जी मिलना चाहते थे , उन्होंने प्रभु श्री राम से विनती करी की किया वे कुछ पल अपनी माँ से मिल सकते है | प्रभु श्री राम ने उन्हें...Read More


गणेश चतुर्थी - कैसे करे गणेशजी की पूजा और मूर्ति स्थापना

 गणेश चतुर्थी - कैसे करे गणेशजी की पूजा और मूर्ति स्थापनाGanesh Chaturthi-How to worship and place idol of Ganeshaगणेश चतुर्थी पूजा विधि Ganesh Chaturthi Pooja Vidhi In Hindiगणेश चतुर्थी पर्व भगवान शिव और पार्वती के पुत्र श्री गणेश के जन्मोत्सव के अवसर पर  बड़ी धूम धाम से भारत वर्ष में  मनाया जाता है | प्रथम पूज्य देवता श्री गणेश बुद्धि और मंगल करण देवता है जिनकी कृपा हर भक्त अपने और अपने परिवार...Read More


प्रार्थना कैसे होती है सफल

ईश्वर से की गई "प्रार्थना" का तभी सही प्रत्युत्तर मिलता है, जब हम अपनी शक्तियों को काम में लाएँ। आलस्य, प्रमाद, अकर्मण्यता और अज्ञान ये सब अवगुण यदि मिल जाएँ, तो मनुष्य की दशा वह हो जाती है जैसे किसी कागज़ के थैले के अंदर तेज़ाब भर दिया जाए। ऐसा थैला अधिक समय तक नही ठहर सकेगा और बहुत जल्द गलकर नष्ट हो जाएगा। ईश्वरीय नियम बुद्धिमान माली के समान हैं...Read More


भूत प्रेत निवारण धुनी का यह उपाय दूर करेगा उपरी बाधा के संकट

भूत प्रेत निवारण धुनी का यह उपाय दूर करेगा उपरी बाधा के संकटदोस्तों भूत प्रेत और काले टोने टोटके के दुष्प्रभावो से यदि आप ग्रसित है तो आज हम आपके लिए एक बहुत ही सरल उपाय लाये है जो घर में उपस्तिथ नकारात्मक शक्तियों को दूर करता है और फिर से घर में शांति प्रेम का माहौल बनने लगता है | यह उपाय है भूत प्रेम निवारण धुनी का | इसका प्रयोग करके आप घर से...Read More


इस शिवलिंग की पूजा करने से डरते है लोग

इस शिवलिंग की पूजा करने से डरते है लोगPeople are afraid to worship this Shivlingइस शिवलिंग की पूजा से डरते है लोगभारत में एक शिव मंदिर ऐसा भी है जिसमे रखे शिवलिंग की पूजा करने दूध दही और जल के अभिषेक करने से डरते है लोग | ऐसा क्यों इसके पीछे एक कथा है |कहाँ है यह शिवलिंग :यह शिवलिंग उत्तराखंड के हथिया नौला पर बना हुआ है। इस शिवलिंग के साथ एक लोककथा जुडी है जिसके कारण ही इस...Read More


नए साल की बधाई मेसेज स्टेटस WISHES

नए साल की बधाई मेसेज स्टेटस WISHESHappy New Year Message Status WISHESदोस्तों हार साल खत्म होता है और नया साल आता है | हम सभी नए इंग्लिश कैलेंडर में आने वाले साल पर अपने दोस्तों , परिजनों , रिश्तेदारो को नए साल की बधाई सन्देश भेजते है | ये मेसेज हम सोशल मीडिया जैसे फेसबुक , व्हाट्सएप्प , इन्स्टाग्राम आदि द्वारा भेजते है | आइये चलिए सबसे बेस्ट मेसेज आपको बता देते है नए साल पर...Read More


सफला एकादशी व्रत महत्व कथा नियम और पुण्य प्राप्ति

सफला एकादशी व्रत महत्व कथा नियम और पुण्य प्राप्तिSaphala Ekadashi Vrat, Importance Story, Rules and Achievement of Virtueहमारे सनातन धर्म में विष्णु भक्ति के लिए एकादशी का अत्यंत महत्व है | सफला एकादशी मनोरथो को सफल करने वाली एकादशी बताई गयी है जो पौष मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को आती है | कहते है जो व्यक्ति इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना नियम पूर्वक करता है और रात्रि में जागरण करके...Read More


विक्रम संवत की महिमा और हिन्दुत्व में इसकी जगह

विक्रम संवत की महिमा और हिन्दुत्व में इसकी जगहThe glory of Vikram Samvat and its place in Hindutvaविक्रम संवत की महिमा :हिन्दू कैलेंडर  में विक्रम संवत से समय की  गणना की जाती है। यह महराजा विक्रमादित्य  के द्वारा शुरू किया गया और इसी कारण इसका नाम विक्रम संवत रखा गया है |कब से शुरू होता है विक्रम संवत :विक्रम संवत चैत्र महीने के नवरात्रि के पहले दिन से शुरू होता है | यह...Read More


सर्व पितृ अमावस्या

सर्व पितृ अमावस्याSarva Pitru Amavasyaसर्व पितृ दोष अमावस्याहर महीने आने वाली अमावस्या का दिन पितरो को समर्प्रित दिन माना जाता है | पुरे साल आने वाली अमावस्याओ  में सबसे मुख्य अमावस्या है आश्विन मास की अमावस्या जो अति फलदाई बताई गयी है | इसे सर्व पितृ विसर्जनी अमावस्या और महालय विसर्जन भी कहते है | सर्व पितृ अमावस्या पर पितरो की पूजा : ज्ञात और अज्ञात...Read More


शीतला अष्टमी पर कैसे करे माँ शीतला की पूजा

शीतला अष्टमी पर कैसे करे माँ शीतला की पूजाHow to worship Mother Sheetla on Sheetala Ashtamiफाल्गुन माह के बाद आने वाले चैत्र मास की कृष्ण पक्ष अष्टमी को माँ शीतला से जुड़ा पर्व शीतला अष्टमी मनाया जाता है | यह पर्व होली के ठीक आठ दिन बाद आता है | इसे बसोरा और बासोड़ा भी कहते है | यह दिन बांसे या ठन्डे खाने से जुड़ा है अर्थात पुरे दिन माँ को बांसे खाने का भोग लगाकर यही पुरे दिन खाया...Read More


मकर सक्रांति के लिए पवित्र स्नान के लिए धार्मिक तीर्थ स्थान

 मकर सक्रांति के लिए पवित्र स्नान के लिए धार्मिक तीर्थ स्थानReligious pilgrimage place for holy bath for Makar Sankrantiमकर संक्रांति का पर्व दान , स्नान और तप का सबसे बड़ा दिन माना गया है | कलियुग में  इस दिन क्या गया धर्म कई यज्ञो के लिए बराबर फल की प्राप्ति करवाता है | इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है | मकर संक्राति के दिन सूर्य अपनी दिशा बदलकर उत्तर की तरफ झुक जाता है |...Read More


जाने सृष्टि के रचियता ब्रह्माजी के बारे में

जाने सृष्टि के रचियता ब्रह्माजी के बारे मेंKnow about the creator of the universe, Brahmaकौन है बह्र्माजी : भारतीय सनातन धर्म में त्रिदेव की के रूप में ब्रह्मा विष्णु और महेश को पूजा जाता हैं | इनमे ब्रह्माजी को इस सृष्टी का रचियता का पद प्राप्त है | यह बह्रम लोक में निवास करते है पर कमल इनका सबसे प्रिय पुष्प है | इनके चार मुख है जो चारो दिशाओ का प्रतिनिदित्व करते है |...Read More


मंदिरों में चरणामृत का महत्व

मंदिरों में चरणामृत का महत्वImportance of Charanamrit in templesचरणामृत की महिमा, चरणामृत का क्या महत्व है?चरणामृत दो  शब्दो  चरण + अमृत से मिलकर बना है,  इसका सीधा सा अर्थ है ईश्वर के चरणों को स्पर्श करने वाला जल जो अब उनके पैरो के स्पर्श से अमृत बन गया है | हम मंदिरों में यही चरणामृत प्राप्त करते है जो मंदिर में देवी देवताओ के चरणों को धुला कर भक्तो को तुलसी के...Read More


पूजा में चावल, जल और पुष्प हाथ में लेकर करना चाहिये संकल्प

पूजा में चावल, जल और पुष्प हाथ में लेकर करना चाहिये संकल्पIn worship, a resolution should be taken with rice, water and flowers in handपूजा पाठ में संकल्प का महत्वPooja Me Sankalp Ka Mahtav हिन्दू धर्म (Hinduism) में देवी देवताओ की पूजा के कई विधि विधान है | इन विधियों के पीछे ईश्वर की प्राप्ति के गुप्त मार्ग छिपे हुए है | हमें इन विधियों का अच्छे से अनुसरण करके पूजा करनी चाहिए जिससे की पूजा का फल हमें अधिक से अधिक...Read More


कथा - शिव ने क्यों किया कामदेव को भस्म

कथा  - शिव ने क्यों किया कामदेव को भस्मStory - Why did Shiva burn Cupidकामदेव का शिव द्वारा भस्म होनाकामदेव को काम वासना प्रेम का देवता माना गया है | इस जगत में काम इच्छा के यही जनक है | पर एक बार ऐसा क्या हुआ की खुद कामदेव को भगवान रूद्र ने भस्म कर दिया | दक्ष प्रजापति के हवन में माँ सती अपने और अपने पतिदेव शिव का जब अपमान ना सह सकी तो उन्होंने उसी पवित्र हवन कुंड में ...Read More


हस्यमयी तांत्रिक बावड़ी - पानी पीते ही लड़ने-झगड़ने लगते थे लोग

हस्यमयी तांत्रिक बावड़ी - पानी पीते ही लड़ने-झगड़ने लगते थे लोगFunny Tantric stepwell - people used to fight and fight as soon as they drank waterतांत्रिक बावड़ी का पानी पीकर लड़ने लगते है लोगभारत में अनेकों ऐसी ऐतिहासिक जगह है जिनके साथ आश्चर्यचकित करने वाले रहस्य जुड़े हुए है | ऐसी ही एक जगह है ‘तांत्रिक बावड़ी’ जिसका यदि कोई पानी पी ले तो मानसिक स्थिति को खो कर आस पास वालो से लड़ने लग जाता है | आप सोच...Read More


पुरुषोत्तम मास से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

पुरुषोत्तम मास से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां Some important information related to Purushottam monthभारतीय हिंदी विक्रमी सम्वत पंचांग में प्रत्येक तीन साल के बाद में पुरुषोत्तम यानी अधिक मास की उत्पत्ति होती है| आध्यात्मिक दृष्टिकोण से इस माह में उपासना करने का अपना एक अलग ही महत्व है| माना जाता है कि इस माह के दौरान जप, तप, दान जैसे धार्मिक कार्यों से अनंत पुण्यों की...Read More


पुरुषोत्तम मास में क्यों खास हैं विष्णु पूजन, जानिए...

पुरुषोत्तम मास में क्यों खास हैं विष्णु पूजन, जानिए... Why is Vishnu worship special in Purushottam month,know...पौराणिक शास्त्रों के अनुसार हर तीसरे साल पुरुषोत्तम यानी अधिक मास की उत्पत्ति होती है|इस माह उपासना करने का अपना अलग ही महत्व है|इस माह के दौरान जप, तप, दान से अनंत पुण्यों की प्राप्ति होती है| इस माह में श्रीकृष्‍ण, श्रीमद्‍भगवतगीता, रामकथा वाचन और श्रीहरि विष्‍णु...Read More


वास्तु में शुभ और अशुभ पेड़ पौधे

वास्तु में शुभ और अशुभ पेड़ पौधेAuspicious and inauspicious trees and plants in Vastuवास्तु घर में सकारात्मक उर्जा को बढ़ाने का और नकारात्मक उर्जा को दूर करने का पौराणिक ज्ञान और विज्ञान है | इसके नियमो का पालन करने से घर के सभी सदस्य उर्जावान, स्वास्थ्य रूप से सम्पन्न और सुख सुविधाओ को पाने वाले है | वास्तु में दिशाओ का महत्व है और साथ में कुछ नियम है की किस दिशा में क्या होना...Read More


कैसे करे कपालभाती प्राणायाम जाने - विधि और लाभ

कैसे करे कपालभाती प्राणायाम जाने - विधि और लाभHow to do Kapalbhati Pranayama- Method and Benefitsकपालभाती का अर्थ :कपाल का अर्थ है मस्तिक के आगे का भाग और भाती का मतलब उजाला | अत: इस प्राणायाम का अर्थ हुआ की मस्तिक के अग्र भाग में प्रकाश का संचय करना | यह चेहरे पर सुन्दरता लाता है | यह तेज प्रवाह से साँस लेना और छोड़ने का प्राणायाम है | Kapalbhati_PranayamaPhoto courtesy : NDTV.com कपालभाती से होने वाले लाभ...Read More


माँ दुर्गा की मूर्ति की आँखों से निकले आँसू

माँ दुर्गा की मूर्ति की आँखों से निकले आँसूTears came out of the eyes of Maa Durga idolGoddess Durga Cried and Tears From Eyes At Jabalpurमाँ दुर्गा ममता की साक्षात् देवी है | हमेशा अपने भक्तो की रक्षा के लिए तैयार रहती है | कलियुग में फ़ैल रहे लोभ लालच पाप से उनके भक्त भी इस माया में फंस चुके है | शायद यही कारण है की मध्य प्रदेश के जबलपुर में एक दुर्गा की मूर्ति की आँखों से इसी कारण आँसू निकल पड़े | आप लोग...Read More


दुर्गा सप्तशती लिखी जा रही है अपने खून से

दुर्गा सप्तशती लिखी जा रही है अपने खून सेDurga Saptashati is being written with my own bloodजूनून एक इसी चीज होती है जो किसी के सर पर चढ़ जाती है तो वे ऐसा कार्य कर जाते है जो सुनने वाले को अचम्भित कर देता है | यह जूनून चाहे अपने धर्म को लेकर हो या फिर किस कठिन कार्य को पूर्ण करने का |ऐसा ही जूनून वाराणसी के रमेश धवन पर सवार हुआ है | माँ दुर्गा पर लिखी दुर्गा सप्तशती को वो अब अपने खून...Read More


सोमवती अमावस्या

सोमवती अमावस्याSomvati AmavasyaSomavati Amawasya Poojan Vidhi In Hindi जो अमावस्या सोमवार के दिन आती है उसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है | इस अमावस्या को विशेष पर्वो में स्थान प्राप्त है | इस दिन पूजा पाठ का विशेष फल प्राप्त होता है | यह फल देवी देवता और पितरो से मिलता है | Somvati Amawasya ka Mahtavसोमवती अमावस्या का महत्व  :सोमवार को शिव पूजन के साथ आने वाली अमावस्या पर  का भी अत्यंत महत्व और...Read More


शरद पूर्णिमा की महिमा महत्व और पूजा विधि

शरद पूर्णिमा की महिमा महत्व और पूजा विधिSignificance and worship method of Sharad Purnimaसभी पूर्णिमा में शरद पूर्णिमा का महत्व अत्यधिक है | हिन्दू पंचांग के अनुसार आश्विन मास की पूणम को आने वाली पूर्णिमा शरद पूर्णिमा के नाम से जानी जाती है | मान्यता है की पुरे साले भर में बस इसी दिन चंद्रमा अपनी सभी सोलह कलाओ से पूर्ण होता है | यानि की सबसे ज्यादा चांदनी वाली रात | साथ ही माँ...Read More


भगवान देव नारायण का सतयुगी गाँव

भगवान देव नारायण का सतयुगी गाँवSatyug Village of Lord Dev Narayanदेवमाली गाँवदोस्तों इस समय कलियुग चल रहा है, पाप बढ़ रहा है | चोरी करना, जमीन हड़पना, दारू पीना आम बात सी हो गयी है | पर इस कलियुग में भी एक गाँव आज ऐसा है जहा के लोग सतयुग के है | जिनके मन में लोभ लालच नही बल्कि अपने आराध्य देव की भक्ति है | देवमाली गाँव की मुख्य विशेषता निम्न है :१) इस गाँव की पूरी जमीन का एक ही ...Read More


मेघनाथ के बाद एक और राक्षस ने राम और लक्ष्मण के प्राण संकट में ला दिए थे

मेघनाथ के बाद एक और राक्षस ने राम और लक्ष्मण के प्राण संकट में ला दिए थेAfter Meghnath, another demon had put the lives of Ram and Lakshman in danger.कौन था वो राक्षस जो राम लक्ष्मण की बलि देने वाला था ? आप इस समय रामायण दूरदर्शन पर देख रहे है | इस समय वानर राक्षस संग्राम अपने चरम पर है | रावण का प्रिय पुत्र इन्द्रजीत (मेघनाथ ) अपनी परम मायावी शक्तियों से राम लक्ष्मण सहित पुरे वानर दल को लोहा दे...Read More


हनुमानजी की पूजा में ध्यान रखे यह महिलाये

हनुमानजी की पूजा में ध्यान रखे यह महिलायेKeep these women in mind in worshiping Hanumanjihanuman_worship_woman_rulesहनुमानजी की पूजा में स्त्रियाँ ध्यान रखे इन बातो का :हनुमानजी को अखण्ड ब्रह्मचारी व महायोगी बताया गया है | यह सभी महिलाओ को माता के समान मानते है | यह दीक्षा उन्हें माँ सीता से प्राप्त हुई | हनुमानजी की पूजा में महिलाओ और पुरषों की पूजा में कुछ नियम अलग अलग है |महिलाये क्या क्या ...Read More


शास्त्र के अनुसार इन पाँच जगह ना पहने चप्पल और जूते

शास्त्र के अनुसार इन पाँच जगह ना पहने चप्पल और जूतेAccording to the scriptures, do not wear slippers and shoes in these five placesइन जगहों पर ना पहने जूते चप्पलशास्त्र के अनुसार इन 5 जगहें जूते-चप्पल नही पहने, हम्हारे धर्म शास्त्र बताते है की यह पाँच जगह बहुत पवित्र मानी गयी है अत: इन जगहों पर गन्दी चप्पले और जूते पहन कर जाना पापकर्म है और ऐसा करने से हम्हे अशुभ का सामना करना पड़ता है | भूल से भी...Read More


राशि अनुसार किस देवी देवता की पूजा करे

राशि अनुसार किस देवी देवता की पूजा करेWhich deity should be worshiped according to the zodiacराशि के अनुसार किस देवता की पूजा करेRashi Anusar kis devi devta ki puja karni chahiye ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है भगवान की नियम पूर्वक पूजा की जाये तो उनकी कृपा शीघ्र प्राप्त होती है | ज्योतिष विज्ञान में राशियों के अनुसार कुछ नियम बताये गये है जो उन राशि वालो को पालन करने चाहिए | ऐसा करने से अशुभ ग्रह भी शुभ फल...Read More


बसंत पंचमी पर माँ सरस्वती की पूजन विधि

बसंत पंचमी पर माँ सरस्वती की पूजन विधिWorship method of Mother Saraswati on Basant Panchamiबसंत पंचमी का महत्व और सरस्वती पूजा विधि :Basant Panchami Importance In Hindu Religion यह त्यौहार ज्ञान संगीत की देवी माँ सरस्वती की याद में मनाया जाता है| हिन्दू धर्म में माँ सरस्वती को ज्ञान की गंगा, संगीत और कला की देवी का परम स्थान प्राप्त है| इसी दिन माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी देवी माँ सरस्वती का अवतरण...Read More


धर्म की परिभाषा,अर्थ और महत्व क्या है

धर्म की परिभाषा,अर्थ और महत्व क्या हैधर्म का अर्थ और महत्वधर्म शब्द का उद्भव धृ धातु से हुआ है जिसका अर्थ है धारण करना |  इस परम सत्ता से जुड़ी रीति, रिवाज, परम्परा, पूजा-पद्धति और दर्शन का समूह धर्म के अंतर्गत आता है | धर्म का एक मुख्य अंग है नैतिक और मानवता | भारतीय ऋषियों ने इसी सन्दर्भ में धर्म को परिभाषित  किया है |मन को चंचल बताया गया है |...Read More


मौनी अमावस्या का महत्व और महिमा

मौनी अमावस्या का महत्व और महिमाSignificance and glory of Mauni Amavasyaहिन्दू धर्मग्रंथों में माघ मास को बेहद पवित्र और धार्मिक पुण्य प्राप्ति का समय चक्र माना जाता है और इस मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मौनी अमावस्या कहा जाता है। इस दिन के पवित्र स्नान को  कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के समान ही माना जाता है | पवित्र नदियों और सरोवरों में देवी देवताओ का वास होता है...Read More


पितृ आरती - पितरो की पूजा में जरुर ले काम में

पितृ आरती - पितरो की पूजा में जरुर ले काम मेंPitru Aarti - Must be used in worship of ancestorsश्राद्ध के इन दिनों में पितरों के तर्पण के लिए जहां विधि-विधान से पूजा अर्चना पितरों को संतुष्ट करती है, वहीं यदि आप इन पंद्रह दिनों में नियमित रूप से आरती करें | पितृ परलौकिक शक्तियों को प्रसन्न करती है यह आरती | इसके माध्यम से हम भूतकाल में हुई कोई भूल चुक की क्षमा याचना भी करते है...Read More


सोने के गहने के इन नियमो का रखे ध्यान - चमक उठेगी किस्मत

सोने के गहने के इन नियमो का रखे ध्यान - चमक उठेगी किस्मतTake care of these rules of gold jewelry - Luck will shineसोना बहुमूल्य धातुओ में से एक है और मुख्यत महंगे आभूषणों के रूप में पहना जाता है | ज्योतिष विज्ञान के अनुसार हर धातु किसी ना किसी ग्रह के प्रभावों से जुडी रहती है और अच्छे और बुरे फल का निर्धारण करती है | सोना धारण करना भी ग्रहो के प्रभाव को प्रभावित करता है | इसलिए ध्यान...Read More


शिव स्थली कैलाश पर्वत की महिमा

शिव स्थली कैलाश पर्वत की महिमाShiva Sthali Glory of Kailash Mountainकैलाश मानसरोवर में ॐ पर्वतशिव भक्तो के लिए इस धरती पर यदि कोई स्वर्ग है तो वो है कैलाश मानसरोवर |  कैलाश जहा तिब्बत पर एक पर्वत है वही मानसरोवर एक झील | यह यात्रा बहुत कठिन है पर इस यात्रा में रोमांच अपने चरम पर है | इस यात्रा के हर कदम पर श्रद्धा और भक्ति बढती जाती है |हर पग पर आँखे अपने भोलेबाबा के...Read More


कैसे बचे अपने बुरे डरावने सपनो से

कैसे बचे अपने बुरे डरावने सपनो सेHow to escape from your nightmaresबहुत से व्यक्ति ऐसे है जिन्हें रात्रि में बुरे सपने चैन से सोने नही देते | यह सपने उन्हें मानसिक रोगी तक बना देते है । जागने के बाद भी यह उन्ही सपनो के कारण अशांत और उदास बने रहते है । रात्रि में सपने में बुरे शख्स और डरावने भुत प्रेत  देखकर वे पसीने से तर बतर हो जाते है । सपनो में आत्माए जीव जंजाल आदि...Read More


शंख से ना करे शिव पूजन

शंख से ना करे शिव पूजनDo not worship Shiva with Saankhक्यों है शंख से शिव पूजा वर्जितहिन्दू धर्म में आरती के समय शंख का उपयोग महत्वपूर्ण माना जाता है | सभी सभी देवी-देवताओं को शंख से जल चढ़ाया जाता है आपको जानकर अचरज होगा की पुराणों में किसी भी शिवलिंग पर शंख से जल चढ़ाना वर्जित माना गया है।ऐसा क्यों है और इसके पीछे की कथा जानते है क्यों शिवलिंग पर शंख से जल नही चढ़ाया ...Read More


हजारो शिवलिंगों का अभिषेक करती एक नदी

हजारो शिवलिंगों का अभिषेक करती एक नदीA river consecrating thousands of Shivlingsएक नदी जो करती है हजारो शिवलिंगों का अभिषेक : शिवजी पर जल अभिषेक करने की धार्मिक मान्यता है | शिव भक्त दूध दही जल आदि से शिवजी का अभिषेक करते है । पर आज हम एक नदी की बात करेंगे जो स्वयं हजारो शिवलिंग का अभिषेक करती है |यह नदी कर्नाटक में शलमाला नाम से जानी जाती है | इस नदी के चट्टानी तट पर...Read More


कांवड़ लाने की परंपरा और इससे जुड़े नियम

कांवड़ लाने की परंपरा और इससे जुड़े नियमThe tradition of bringing kanwar and the rules related to itआपने शिवजी के परम प्रिय मास श्रावण में भक्तो को अपने कंधे पर कांवड़ में जल लाते देखा होगा | यह पैदल कोसो चल कर पवित्र जल लाते है और फिर इस जल से शिवजी का अभिषेक करते है | कैसे हुई कांवड़ परंपरा की शुरुआत :विष्णु अवतार भगवान परशुरामजी ने अपनी अनन्य शिव भक्ति में कांवड़ परंपरा की शुरुआत ...Read More


दिवाली की रात क्यों बनाया जाता है काजल?

दिवाली की रात क्यों बनाया जाता है काजल?Why is kajal made on the night of Diwaliभारत में सबसे बड़े त्योहार के रूप में दीपावली को जाना जाता है | यह पर्व साफ़ सफाई, रोशनी और प्रेम बाँटने का पर्व है | इस दिन को लेकर कई मान्यताये भी सदियों से चली आ रही है, जिसमे से एक है दीपावली की रात को काजल बनाकर घर के सभी सदस्यों की आँखों में लगाना | दीपावली की संध्या को गणेश संग लक्ष्मी जी की...Read More


होलिका दहन पर लाभकारी टोटके

होलिका दहन पर लाभकारी टोटकेUseful tricks on Holika Dahanहोलिका दहन पर सिद्ध टोने टोटकेHolika Dahan par Labhkari or Chamtkari totkeहोलिका दहन भक्त प्रहलाद, उसकी बुआ होलिका और भगवान नरसिंह जी की याद में मनाया जाता है| यह पर्व सन्देश देता है की जिसके साथ भगवान हो उसका कोई अहित नही कर सकता| होलिका दहन का दिन एक मंगलकारी दिन माना जाता है| टोने टोटके के हिसाब से भी यह दिन खास है| इस पोस्ट के माध्यम ...Read More


अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं दनुजवनकृशानुं हनुमान जी श्लोक और अर्थ

अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं दनुजवनकृशानुं हनुमान जी श्लोक और अर्थAtulitbaldhaam Hemashailabhadeham DanujavanKrishanum Hanuman ji Shloka and meaningयदि हनुमान जी की महिमा के बारे में जानना चाहिए तो यह 4 लाइन का श्लोक गागर में सागर की तरह बहुत ही अच्छे ढंग से इनकी महानता और वीरता को इंगित करता है | अतुलित बलधाम श्लोक हिंदी अर्थ अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहंदनुजवनकृशानुं...Read More


बबूल पेड़ के प्रेम से थामी कृष्ण ने बाँसुरी

बबूल पेड़ के प्रेम से थामी कृष्ण ने बाँसुरीKrishna held the flute with the love of the acacia treeकृष्ण कथा बाँसुरी कीकृष्णा हर दिन एक बाग़ में जाया करते थे और उस बाग़ के सभी पुष्पों को प्यार किया करते थे| बदले में वे सभी पुष्प भी कृष्णा की तरफ अपना प्यार दर्शाया करते थे| उन सभी पुष्पों के चेहरों पर कृष्ण को देखकर एक मधुर मुस्कान आ जाया करती थी|उसी बाग़ में एक बबूल का पेड़ भी था पर कृष्ण ...Read More


इस दिशा में रखा मोरपंख, खींच लाता है लक्ष्मी को

इस दिशा में रखा मोरपंख, खींच लाता है लक्ष्मी कोA peacock feather placed in this direction pulls LakshmiMorpankh (Peacock Feather) Attracts Wealth By Doing These Stepsहिन्दू धार्मिक शास्त्रों में मोरपंख का महत्व बताया गया है | विष्णु के अवतार श्री कृष्ण तो इसे हमेशा अपने सिर पर सज्जा कर रखते थे और मोर मुकुट वाले कहलाते थे | शिव के जयेष्ट पुत्र भगवान कार्तिकेय स्वामी का वाहन भी मोर ही है | शास्त्रों में बताया गया है कि...Read More


गणतंत्र दिवस शायरी

गणतंत्र दिवस शायरी |REPUBLIC DAY SHAYARIगणतंत्र दिवस पर शायरी और मैसेजभारत में Republic Day 26 January को बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है |इस दिन भारत में संविधान  लागू हुआ था |भारत के प्रथम राष्टपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद और प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु थे |देश भक्ति के जज्बे को जगाने के लिए कुछ देश भक्ति शायरी और मेसेज हम आपके लिए लाये है |अपने दोस्तों, रिश्तेदारों...Read More


बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स सुखी दांपत्य जीवन

बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स सुखी दांपत्य जीवनबेडरूम हमारे घर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, क्योंकि यहीं हम आराम करते हैं और अपने जीवन से जुड़े निजी अनुभव शेयर करते हैं।  पति पत्नी के बीच सुखी दांपत्य जीवन के लिए उनके शयन कक्ष का वास्तु सही होना चाहिए |हमारे जीवन का एक बहुत बड़ा समय बेडरूम में ही सोते हुए गुजरता है। यदि वास्तु के अनुसार...Read More


बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स सुखी दांपत्य जीवन

बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स सुखी दांपत्य जीवनVastu Tips For Bedroom Happy Married Lifeबेडरूम हमारे घर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, क्योंकि यहीं हम आराम करते हैं और अपने जीवन से जुड़े निजी अनुभव शेयर करते हैं।  पति पत्नी के बीच सुखी दांपत्य जीवन के लिए उनके शयन कक्ष का वास्तु सही होना चाहिए |हमारे जीवन का एक बहुत बड़ा समय बेडरूम में ही सोते हुए गुजरता है। यदि...Read More


ज्योतिष व सांईटिफिक सोच के अनुसार आपको जीवन को शानदार बनाने के लिए नीचे लिखी नौ आदतें* आपके जीवन में अवश्य होनी चा

Whether you believe in Jyotishi or Grahon ke khel given below the cultivated habits in our daily routine change the health and the life for better course (ज्योतिष  व  सांईटिफिक सोच के अनुसार आपको जीवन को शानदार बनाने के लिए नीचे लिखी नौ आदतें* आपके जीवन में अवश्य होनी चाहिये.)आदत नम्बर 1अगर आपको कहीं पर भी थूकने की आदत  है तो यह निश्चित है कि यदि आपको यश, सम्मान मुश्किल से मिल भी जाता है तो कभी टिकेगा ही नहीं.आदत नम्बर 2जिन लोगों को अपनी...Read More


चांदी के पहनने से होने वाले फायदे

चांदी के पहनने से होने वाले फायदेBenefits of wearing silverचांदी को धारण करने से होने वाले लाभचांदी एक पवित्र, आम बजट की और सात्विक धातु मानी गयी है । यह माध्यम बजट की होने के कारण खरीदना भी महंगा नही पड़ता | ज्योतिष विज्ञान में चांदी चंद्रमा और शुक्र ग्रह को प्रसन्न करती है । इसे धारण करने से अशुभ फल देने वाले ग्रह शुक्र और चन्द्र अपना अच्छा प्रभाव देना शुरू कर...Read More


लौंग के चमत्कारिक टोटके और उपाय

लौंग के चमत्कारिक टोटके और उपायClove's miracle tricks and remediesलौंग के चमत्कारिक टोटके और उपायLong ke Totke/Upay in Hindiलौंग के चमत्कारिक टोटके आपकी सारी समस्यायों को दूर  करके आपको मालामाल कर सकते है. तंत्र विद्या के अनुसार लौंग के टोटको और उपाय को काम में लेने से असंभव कार्य भी संभव बन जाते है | Loung ke Totkeहनुमान पूजा के दौरान  सरसो का तेल लेकर दीये में डालें और उसमें दो लौंग...Read More


भगवान को चोकलेट का प्रसाद - मुरुगन मंदिर

भगवान को चोकलेट का प्रसाद - मुरुगन मंदिरChocolate offering to God - Murugan Templeचोकलेट का प्रसाद - मुरुगन मंदिरसुनने में अजीब लगे पर भारत में एक ऐसा भी मंदिर है जहा देवता को भोग में चोकलेट चढ़ाई जाती है जबकि दुसरे मंदिरों में भक्त लड्डू, बर्फी, फल, फुल आदि चढाते है | भक्त और भगवान का रिश्ता बड़ा अनोखा होता है | भक्तो को जो प्रिय होता है वे उसे अपने आराध्य देव को भी अर्पित कर...Read More


नाग करता है कई सालो शिवजी की पूजा

नाग करता है कई सालो शिवजी की पूजाSnake worships Shiva for many yearsनाग करता है शिवलिंग पूजा :इस मंदिर में पिछले 16 सालों से रोज नाग आकर के करता है भगवान शिव की पूजाहिन्दू धर्म में चमत्कार भरे पड़े है और जब हम यह स्वयं अपनी आँखों से देखते है तो हम्हारे धर्म के प्रति हम्हारा विश्वास और श्रद्दा और अधिक बढ़ जाती है | हम सभी जानते है भगवान शिव को नागराज भी कहते है | हमेशा क नाग...Read More


भैरव के जन्म की कथा और ब्रह्मा का एक सिर काटना

भैरव के जन्म की कथा और ब्रह्मा का एक सिर काटनाThe story of Bhairav's birth and the beheading of Brahmaकाशी के कोतवाल भैरव की जन्म कथाभैरव शिव के पांचवे रूद्र अवतार है | इनका अवतरण मार्गशीर्ष मास की कृष्णपक्ष अष्टमी को एक दिव्य ज्योतिर्लिंग से हुआ है | भैरव के अवतरण की कथाकथा के अनुसार एक बार साधुओ ने सभी त्रिदेव और देवताओं से पूछा की आपमें सबसे महान और सबसे श्रेष्ठ कौन है |...Read More


राम भक्त हनुमान को क्यों लगा भरत का बाण

राम भक्त हनुमान को क्यों लगा भरत का बाणभरत ने अपने बाण से हनुमान को क्यों घायल कर दिया थाश्रीरामचरितमानस के लंकाकाण्ड से  मेघनाथ के एक दिव्य वार से लक्ष्मण बेहोश होकर धरती पर गिर पड़े और उनके प्राण संकट में आ गये | लंका के ही एक वैद ने लक्ष्मण को प्राण देने वाली संजीवनी बूटी के बारे में बताया । यह कार्य हनुमान को दिया गया पर वहा पहुँच कर ...Read More


घर में रखे ये 10 चीजे, कभी धन की कमी नहीं आएगी

घर में रखे ये 10 चीजे, कभी धन की कमी नहीं आएगीKeep these 10 things in the house, there will never be a shortage of moneyघर में रखे ये दस चीजे , कभी नही आएगी धन की कमीधन की कामना सभी को होती है लेकिन बहुत कम ही लोग होते हैं जिनकी यह कामना पूरी हो पाती है|तंत्र शास्त्र में कई ऐसी वस्तुओं के बारे में बताया गया है जिन्हें घर में रखने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और वह वस्तुएं धन को अपनी ओर आकर्षित...Read More


मकान की नींव में सर्प और कलश क्यों रखे जाते है

मकान की नींव में सर्प और कलश क्यों रखे जाते हैWhy are snakes and urns kept in the foundation of the houseमकान की नींव में सर्प और कलशक्या आपने कभी सोचा है  नए मकान की नींव भरते समय सर्प और कलश को क्यों गाढ़ा जाता है ? इसके पीछे का रहस्य जानने के लिए हमें हमारे धर्मशास्त्रों की तरफ रुख करना पड़ेगा |हमारे सनातन धर्म में बताया गया है की पृथ्वी के निचे एक अन्य लोक पाताल स्तिथ है | मान्यता...Read More


पुराणों में बताया गया कलियुग, आज हो रहा है सच्च

पुराणों में बताया गया कलियुग, आज हो रहा है सच्चKaliyuga told in the Puranas, today it is happening trueपुराणों में बताया गया है कलियुग, हो रहा है आज सच्चहिन्दू धर्म के बहुत सारे पुराणों में चार युगों में अंतिम युग कलियुग के बारे में पहले से ही भविष्यवाणी की जा चुकी है | आज इन्हे पढने पर यह सत्य साबित होते नजर आ रहे है | चाहे विष्णु पुराण हो, या भागवत या कल्कि पुराण, इन सभी में कलियुग...Read More


मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंगMallikarjuna Jyotirlingaमल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग ज्योतिर्लिंगों में मल्लिकार्जुन का दुसरे स्थान पर है, मल्लिका माँ पार्वती और अर्जुन अर्थात शिव | अत: यह धाम शिव शक्ति का पावन स्थान है | यह आन्ध्र प्रदेश के कृष्णा ज़िले में कृष्णा नदी के तट पर श्रीशैल पर्वत पर श्रीमल्लिकार्जुन विराजमान हैं| हैदराबाद से लगभग 200 किलोमीटर दूर इस...Read More


सुबह उठकर यह काम करे रहेगा दिन अच्छा

सुबह उठकर यह काम करे रहेगा दिन अच्छाGet up in the morning and do this work, the day will be goodहम सभी चाहते है की हमारा हर दिन अच्छा हो, हम्हे कम से कम कठिनाइयों का सामना करना पड़े और इसके लिए हम कई धारणाये भी बना लेते है जैसे की सुबह उठने के बाद किसका चेहरा देखे, कौनसा काम करे | हमारे धर्म शास्त्रों के अनुसार सुबह उठने के बड़े सबसे पहले आप कुछ कार्य बताये गये है जिन्हें काम में लेके...Read More


शिव पार्वती का तीसरा पुत्र अन्धक जो एक दैत्य था

शिव पार्वती का तीसरा पुत्र अन्धक जो एक दैत्य थाAndhaka, the third son of Shiva Parvati who was a demonशिव पार्वती दैत्य पुत्र अन्धकयह प्रसंग बताएगा की क्यों शिवजी और पार्वती  के दैत्य पुत्र अंधक ने जन्म लिया और किस कारण शिवजी ने अपने इस पुत्र का वध किया | आइये जाने ………. एक बार शिवजी पूर्व दिशा में मुंह करके बैठे हुए थे, तभी पीछे से पार्वतीजी ने अपने हाथो से शिवजी की आँखे बंद...Read More


शिव स्थली कैलाश पर्वत की महिमा

शिव स्थली कैलाश पर्वत की महिमाShiva Sthali Glory of Kailash Mountainकैलाश मानसरोवर में ॐ पर्वतशिव भक्तो के लिए इस धरती पर यदि कोई स्वर्ग है तो वो है कैलाश मानसरोवर |  कैलाश जहा तिब्बत पर एक पर्वत है वही मानसरोवर एक झील | यह यात्रा बहुत कठिन है पर इस यात्रा में रोमांच अपने चरम पर है | इस यात्रा के हर कदम पर श्रद्धा और भक्ति बढती जाती है |हर पग पर आँखे अपने भोलेबाबा के...Read More


शिवजी को श्राप मिला इसलिए कटा गणेश का सिर

शिवजी को श्राप मिला इसलिए कटा गणेश का सिरLord Shiva got cursed so cut off Ganesh's headगणेश पुराण में बताया गया है की विध्नो को दूर करने वाले भगवान श्री गणेश का सिर एक श्राप के कारण अलग हुआ था | आइये जानते है इसके पीछे की पौराणिक कथा :एक बार भगवान शिव शंकर ने अपने क्रोध में आकर सूर्य को अपने त्रिशूल से मार गिराया | इस कारण इस समस्त संसार में अंधकार छा गया | महर्षी कश्यप सूर्य...Read More


देवी माँ करती है यहा अग्नि से स्नान

देवी माँ करती है यहा अग्नि से स्नानMother Goddess bathes here with fireदेवी माँ करती है अग्नि से स्नान मंदिरईडाणा माता मंदिर- जहा माँ करती है अग्नि से स्नान :मेवाड़ के सबसे प्रमुख शक्तिपीठों में से एक ईडाणा माता मंदिर जिसकी ख्याति पुरे मेवाड़ में फैली हुई है | कहते है की यहा की शक्ति माँ स्वयं अग्नि प्रज्वलित कर स्नान करती है | इसके साथ ही यह भी मान्यता है की लकवा से...Read More


मंगल भवन अमंगल हारी चौपाई चौपाई

मंगल भवन अमंगल हारी चौपाई चौपाईMangal Bhavan Amangal Hari Chaupai Chaupaiमंगल भवन अमंगलकारी चौपाई रामचरितमानसश्री तुलसीदास जी महाराज ने रामचरित मानस से बहुत ही प्यारी चौपाई लिखी है जो भक्तो को अति प्रिय और याद भी है| यह मंगल करने वाली और अमंगल का नाश करने वाली मंत्र समान चौपाई है| मंगल भवन अमंगलहारी चौपाई, आइये जाने मंगल भवन अमंगल हारी चौपाई का हिंदी में अर्थ सहित...Read More


श्रापित नदी जिसके पानी को छूने से खत्म हो जाता पूण्य ?

श्रापित नदी जिसके पानी को छूने से खत्म हो जाता पूण्य ?अपवित्र और शापित नदी कर्मनाशा की पौराणिक कहानीStory behind  About The Cursed KarmanasaRiver सनातन धर्म अत्यंत प्राचीन और गौरवपूर्ण है | यहा बहुत सारी चीजो के साथ पौराणिक कहानियाँ जुडी हुई है | हिन्दू धर्म में 33 कोटि देवी देवताओ के साथ प्रकृति के विभिन्न भाग को भी पूजनीय बताया गया है | इसमे पवित्र और धार्मिक पहाड़,...Read More


सूर्य ग्रहण में ध्यान रखे ये बाते, नही तो होगा भारी नुकसान

सूर्य ग्रहण में ध्यान रखे ये बाते, नही तो होगा भारी नुकसानKeep these things in mind in solar eclipse, otherwise there will be heavy lossग्रहण एक खगोलीय क्रिया है जिसमे  सूर्य ,चंद्रमा और पृथ्वी की position इस तरह हो जाती है की वे एक दुसरे को ढक देते है | हर साल सूर्य और चन्द्र ग्रहण दुनिया भर में आंशिक या पूर्ण रूप से देखा जाता है |  Suray Grahan Ke Samay Kya Kare, Kya Nahi Kareसूर्य ग्रहण पर ना करे ये काम सूर्य ग्रहण के...Read More


धन हानि करवाती है मनुष्य की ये आदते

धन हानि करवाती है मनुष्य की ये आदतेधन हानि करवाने वाली गन्दी आदतेब्रह्मवैवर्तपुराण में ऐसी कई बातें बताई गई है, जो की मनुष्य के लिए बहुत ही काम की होती है। अगर इन बातों का ध्यान न रखा जाए तो देवी लक्ष्मी रूठ सकती है और घर-परिवार को कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आज हम आपको ब्रह्मवैवर्तपुराण में बताई गई ऐसी ही 8 बातों के बारे में बताएंगे...Read More


वास्तुशास्त्र के हिसाब से तिजोरी से जुड़े नियम

वास्तुशास्त्र के हिसाब से तिजोरी से जुड़े नियमAccording to Vastu Shastra, the rules related to the safeतिजोरी वो चीज है जिसमे हम अपना धन सोना चांदी रखते है और चाहते है की उस तिजोरी में धन अक्षत रहे अर्थात कभी खत्म ना हो | हम सभी चाहते है तिजोरी में धन ज्यादा से ज्यादा डाले और कम से कम निकाले |कुल मिलाकर सब यही चाहते है की उनकी तिजोरी उनके लिए शुभ हो | चाहे वो घर में रखी हो या व्यापारिक...Read More


चाणक्य के अनुसार किन लोगो को धन देने से होती है पैसे की बर्बादी

चाणक्य के अनुसार किन लोगो को धन देने से होती है पैसे की बर्बादीAccording to Chanakya, giving money to which people leads to wastage of moneyसबसे बुद्धिमान अर्थशास्त्री जिन्होंने अपनी शिक्षा से सिर्फ चंद्रगुप्‍त मौर्य को ही भारत का सम्राट नही बनाया, बल्कि भारत के लोगो को ऐसे ज्ञान के सागर दे दिए जो जीवन में बड़ी सीख देते है | उनकी बहुत सारी नीतिया जीवन में उतारने से जीवन सुखद और शांतिमय हो...Read More


रविवार को क्या करे, क्या नही करना चाहिए, जाने शास्त्रों से

रविवार को क्या करे, क्या नही करना चाहिए, जाने शास्त्रों सेWhat to do on Sunday, what should not be done, know from the scripturesरविवार को क्या करे क्या नही करेज्योतिष शास्त्र में हर दिन को किसी ना किसी ग्रह से जोड़ा गया है | सप्ताह का पहला वार रविवार को भगवान सूर्य देवता का दिन माना जाता है | इस दिन सूर्य देव के मंत्र जाप और पूजा का विशेष महत्व होता है | साथ ही काशी के कोतवाल भैरव का भी यह सबसे ...Read More


सूतक और पातक लगना किसे कहते है ? ये कब लगते है

 सूतक और पातक लगना किसे कहते है ? ये कब लगते हैहिन्दू धर्म में हमारे ऋषि मुनियों ने जीवन में आने वाले कई पड़ाव के लिए कई धार्मिक नियम बनाये है जिससे ग्रह नक्षत्रो की गतिविधि का भी ध्यान रखा गया है | यदि इन सभी धार्मिक नियमो को हम वैज्ञानिक नजरिये से भी देखे तो यह स्वास्थ्य के हिसाब से बिल्कुल सटीक बैठते है | इन नियमो से जीवन सरल, स्वस्थ आगे बढ़ता है...Read More


Prev 1   2   3   4   5